हर

ज़फर में ढूँढा, सफर में  ढूँढा

 इब्तिला में ढूँढा, इब्तिसाम में ढूँढा

आफताब में ढूँढा, माहताब मे ढूँढा

ढूँढा दर-दर उसे,

वो न मिला।।

 

उसके

शब में डूबा, शबाब मे डूबा

इल्म में डूबा, इतिबार मे डूबा

तस्वीर में डूबा, तसव्वुर मे डूबा

डूबा गहराईयों में उसके,

वो न मिला।।

हर

ज़ार में गूँजा, जोर से गूँजा

इबारत में गूँजा, इमान से गूँजा

चमन में गूँजा, चश्म-ओ-चिराग सा गूँजा

गूँजा चीख-चीख उसे,

वो न मिला।।

 

 

कई

इकबाल में पूजा, इकरार सा पूजा

जश्न में पूजा, जलाल सा पूजा

खलिश में पूजा, ख्वाब सा पूजा

पूजा हर पल उसे,

वो न मिला।।

“वो न मिला”

-विशाल सिंह

1.ज़फर – Victory
2.इब्तिला – Pain, sorrow
3.इब्तिसाम – Smile, moment of joy
4.आफताब – Sun
5.माहताब – Moon
6.इल्म – Knowledge of some subject
7.इतिबार – Faith, believe
8.तसव्वुर – Imagination
9.ज़ार – Moment of weeping, crying
10.इबारत – Language
11.इमान – Faith, believe
12.चश्म-ओ-चिराग – Apple of eye, dear
13.इकबाल – Success ,victory
14.इकरार – Oath
15.ज़लाल – Mistake
16.खलिश – Pain

Originally posted at https://vishalsingh546.wordpress.com/

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s