विगत कई वर्षों से ‘सर्जना’ पत्रिका संस्थान की रचनाशील और सृजन प्रतिभाओं के ज्ञान-विज्ञान के विविध क्षेत्रों में उद्भवन में सहायक सिद्ध हो रही है । ऐसी नवीन उद्भावनाएँ राष्ट्रीय और सांस्कृतिक दिशाओं में सार्थक भूमिका रेखांकित करेंगी, यह मेरा सहज विश्वास है।

― धर्मेन्द्र कुमार सिंह, निदेशक बी. आई. टी. सिन्दरी,धनबाद